Latest

Review hub | make money online | hindi news

हिंदी News / गर्व से पढ़ें हिंदी में

Friday, 17 November 2017

तारामंडल (Constellation )

तारामण्डल (Constellation )

पृथ्वी से आकाश की और देखने पर आकाश में अनेक तारे नजर आते हैं | कई तारे एक समूह में नजर आते है  और तारों के उन समूहों से किसी आकृति जैसा प्रतीत होता है | तारों के इन समूहों को ही तारामंडल (Constellation ) कहते हैं  | हमारे पूर्वजों ने तारामंडल के इन समूहों को अपनी कल्पना अनुसार विशेष नाम दिए  | तारामंडलों के नाम उनके आकृति के आधार पर रखा गया है | 
कुछ प्रमुख तारामंडल -
  • वृहत सप्तऋषि मंडल (Ursa Major )
  • लघु सप्तऋषि (Ursa Minor )
  • मृग (Orion )
  • सिगनस (Cygnus )
  • हाइड्रा (Hydra )
आकाश में कुल 89 तारामंडल हैं (अभी तक ज्ञात ) | इनमें सबसे बड़ा तारामंडल सेन्टारस है जिसमें 94 तारे हैं | इसके बाद बड़ा तारामंडल हाइड्रा (Hydra ) है जिसमें कम से कम 68 तारे हैं |

वृहत सप्तऋषि में भी बहोत से तारे हैं जिसमें सात सबसे चमकदार तारें हैं और रात्रि में में ये आसानी से नजर आते हैं | 
लघु सप्तऋषि में भी सातसर्वाधिक चमकदार तारे होते हैं | लघु सप्तऋषि तारामंडल को बसंत ऋतू में उत्तरी गोलार्ध में  देखा जा सकता है | 
मृग (Orion ) तारामंडल को शीत ऋतु में देखा जा सकता है | मृग सार्वधिक  भव्य तारामंडलों में से एक है | इसमें सात चमकीले तारे हैं , जिसमें चार किसी चतुर्भुज के आकृति बनाते प्रतीत होते हैं | इस चतुर्भुज के एक कोने पर सबसे विशाल तारों में एक बीटलगीज नाम का तारा स्थित है जबकि दूसरे विपरीत कोने पर रिगेल नाम का तारा स्थित है | मृग के मध्य में  स्थित अन्य तीन तारे तारामंडल के मध्य में एक सरल रेखा में स्थित हैं | 

No comments:

Post a Comment